hamarivirasat.com
क्यों श्री यमुनाष्‍टक(yamunashtakam) का पाठ हम सभी को रोज करना चाहिए?
यमुना अष्टकम(yamunashtakam), महाप्रभु वल्लभाचार्य द्वारा रचित 9 छंद वाली संस्कृत कविता है। जो की 16 वीं शताब्दी के भक्ति संत, महाप्रभु वल्लभाचार्य। उनके अनुयायियों को पुष्टिमार्गी उनकी सभी अशुद्धियाँ दूर हो जाती हैं और श्री कृष्ण उनको प्यार करते हैं। उसके माध्यम से सभी भक्ति शक्तियाँ प्राप्त होती हैं