whitecanvasblackmargins.com
~ तो क्या बात थी…
तुम ईद का चाँद होती – तो क्या बात थी,जो ना कह पाया तुम वो बात होती – तो क्या बात थी,तुम आते जाते नज़र आती फिर ठहर जाती – तो क्या बात थी,तुम मेरी पहचान मेरी जात होती – तो क्य…