whitecanvasblackmargins.com
~ घुसपैठिया…
~ घुसपैठिया… मेरे दिल को वो अपना है घर कर बैठा, सामान मेरा सब इधर उधर कर बैठा, ना चाबी लगायी ना तोड़ा उसने ताला , ना जाने कैसे है वो बसर कर बैठा… घुसपैठिया… ना उठाया मुझे ना मुझको…