whitecanvasblackmargins.com
~ शमशान…
मेरे घर के रास्ते में शमशान है, बेदर्द रोज़ लेता किसी की जान है, आदमी को मिट्टी में मिला देता है, सबको उनकी औक़ात दिखा देता है… कभी भीड़ तमाम कभी दो चार आदमी, बता देता है किसकी…