whitecanvasblackmargins.com
~ कालविस्र्द्ध…
एक हुजूम का हिस्सा है; आदमी नहीं जैसे कोई किस्सा हैं… टेबल का टुटा पैर या कुर्सी की टूटी हुई बाँह, अखबार का अनपड़ा इश्तहार या जगह भरती खबर बेकार, घड़ी की सबसे लम्बी सुई या पुरानी रजाई …