wellburrowed.com
तुम्हारा ही प्रतिरूप है
वह कहीं का नहीं है क्योंकि वह सब जगह है वह कहीं का नहीं है इसीलिए वह सब जगह है वह ऊपर और नीचे दोनों जगह अपनी टांगें जमाए हुए है उसका यही योग श्रृंखलाओं में बांधे हुए है तुमको और उनको उसकी विद्युत ग…