wellburrowed.com
सत्ता के घोड़े – एक कविता
ज्ञान मानचित्र की रेखाओं को नहीं मानता न वे उसको बांध सकते हैं इसीलिए तो वे ज्ञान की बात नहीं करते यान की बात करते हैं … तुम सत्ता के घोड़े हो तुम पर लद के नई ऊँचाइयाँ चढ़ेगी वो मिलने जाएगी चंद्रमा क…