wellburrowed.com
सरकार है सरकार के आगे झुको: पाँच कविताएँ
महासभा आज सूरज की तीव्रता, आसमान के नीलेपन को ढांपते बेमौसम कालिख कैसे पुत गई? इतने गिद्ध और चील कहाँ से आ गए? झोपड़ों, बहुमंजिलों और मैदानों पर मंडराते मानो भक्षियों की विशाल महासभा हो रही है। प्रत…