vikrantrajliwal.com
💥 जीवन।
जीवन से इतना मिला जिसकी कभी कोई आशा नही करि थी। जिसकी प्राप्ति के लिए हर क्षण तड़पता रहा, काटो से कर के महोबत अपने ह्रदय अग्नि से जलता रहा। आज होता है एहसास की मिलो चलने के उपरांत भी आज भी मैं वही ख…