vikrantrajliwal.com
एक विचार।
ॐ: आज के दिन मैं उन सभी व्यक्तियों का शुक्रिया अदा करूँगा जिन्होंने हर पल मुझ को मेरे असली व्यक्तित्व का आईना अपने अपने नजरिए से दिखने की कोशिश करी। और मेरी आत्मा को अपना असली अक्स देख पाने के योग्…