vikrantrajliwal.com
अहसास।
कभी कभी मनुष्य न चाहते हुये भी शक्तिहीन और विवश हो जाता है।जिसका अफ़सोस उसे उम्र भर सताता है। वह न चाहते हुये भी अपनी उन तमाम इछाओ का खुद अपने ही हाथों दम घोट देता है जो उसके लिए उसकी ज़िन्दगी थी। इस…