viewsfromtheleft.in
मतलब, हैवानियत।
मतलब कभी ढूंडा था मैंने यूहीं कांटों के रस्तों पे चलते चलते, नाक में दम कर रखा था ये दिल ज़ख्मों पे नमक मलते मलते, बोला यूहीं नहीं मिल गया तुझे सुकून उन नटखट रातों की बातों में, और यूहीं नहीं बच गय…