viewsfromtheleft.in
गर्मी ही कुदरत है
सावन से पूछोगे तो पता चलेगा गर्मी तो आदमी की फितरत है, अब आदमी फितरत छिपा ले इसका ये मतलब नहीं के फितरत ही कुदरत है, कुदरत छुपाने तो न जाने आज कल दुनिया वाले क्या क्या नहीं करते, बोलते हैं गर्मी तो…