vichaaar.blog
शब्द
शब्दों को क्यों हम कुछ कहें, जब वह तो ख़ुद कुछ कहते ही नहीं । जो कहा है; उसे फिर क्यों हम कहें, जब पहले भी वह कुछ न कह सके । शब्दों मे तो कुछ बात कहॉं; जब यह जाना ही है, अब क्यों कुछ हम कहें । -दीप…