uljheshabd.wordpress.com
हरिया काका…
पुराने शहर की, बड़ी याद आती है अरसा गुजरा, कुछ यादें अब भी रुलाती हैं कुछ बातें अब भी डोलती हैं कुछ यादें बोलती हैं याद आता है वहीँ का, एक वाकया जिसमे सबकुछ लगभग, हरेक जीवन में घटा मेरे मोहल्…