theoutofbusiness.com
मैं अकेला यहाँ चलता हूँ |
मैं अकेला यहाँ चलता हूँ, संभले हुए हैं सब यहाँ | मैं अकेला खुद ही संभालता हूँ | और अपना कहते हैं वोह मुझे, जब यूँ ही किसी बात की तरह | और मुह अँधेरे में, जो मैं अपने घर से निकलता हूँ …