thehumanemotion.com
नज़र
ये कहना ग़लत है कि तुम पर नज़र नहीं मशरूफ़ हैं हम मगर तुम्हें ख़बर नहीं।