thecipherstory.wordpress.com
कितना आसान होता है – Privilege, a poem
कितनी आसानी से लोग कह देते है “चिंता करके कुछ नही होनेवाला| जो हो गया है उसे स्वीकार कर लो” कभी कभी लगता है, भगत सिंह ने भी ग़ुलामी बस स्वीकार कर लेनी चाहिए थी| या जब लोग कहते है “…