sunnymca.wordpress.com
आम और पीपल के छाव अब स्कूलों में नहीं मिलते
आम और पीपल के छाव अब स्कूलों में नहीं मिलते, कैफेटेरिया का चलन नया है पर यहां चनाचुर नही मिलते, वक़्त के पाबन्द आज भी है स्कूल, पर पुरानी घण्टियों के धुन नहीं मिलते… श्यामपट्ट गोरी हो गई पर वो…