sunnymca.wordpress.com
मुहब्बत को ख़ुदा मान आया हूँ
अब जब ईमान उसके इश्क़ पे ले आया हूँ, उसी के ख्यालों से, खूबसूरत दुनिया कर पाया हूँ, हर नेकी, हर ज़कात की ख़्वाहिश, अब जो उससे मिलकर ही आई है, तो क्या कल दिखेगी मुझको भी मेरी चाँद, क्या कल मिलेगी मुझको…