sunnymca.wordpress.com
इन आँखों को नम होने दूं न अभी
इन आँखों को नम होने दूं न अभी, सफर में कई मोड़ आने बाक़ी है अभी, सजा रहा हूँ तुम्हारे यादों को दिल में, बस जुदाई मिली है, जिन्दा हूँ मैं अभी। तुमसे बिछड़ कर एक पेड़ बनूंगा, रास्ता मैं तुम्हारा रोज तकूँ…