sunnymca.wordpress.com
वो ख्वाब हो रोज अब सिरहाने में मेरे..
काश सुन ले कभी वो कहानी मेरी, हो जाउं मुकम्मल गर हो जुबानी मेरी.. है जो तस्वीर बनाया शब्दों से मैंने, वो अब रूबरू मिले, है ख्वाहिशें ये मेरी.. काश जल्द ही अब वो शाम भी आए, दो चाँद हो जब आँगन में मे…