sunnymca.wordpress.com
सच को छिपा देता हूँ
लिख के जो लिखना है वो तो मिटा देता हूँ, फिर लिखता ही क्यूं हूँ जब सच को छिपा देता हूँ .. ये डर है कि सच की कड़वाहट से सब खफा हो जाएंगे, इसलिए कर जिक्र झूठ का मैं सबको हंसा देता हूँ.. -सन्नी कुमार Li…