sunnymca.wordpress.com
तस्वीर किसान का
चुनावी नारों तक ही सिमटा रह जाता है, क्यूं हक़ किसान का.. बहस-बातें खूब होती है कर्ज माफी का ऐलान भी होता है, फिर भी नहीं बदलता, क्यूं तस्वीर किसान का.. वो जिसके मेहनत से सबका पेट भरता है, वही अन्नद…