sunnymca.wordpress.com
बस मुस्कुरा देता हूं…
तुम याद आती हो अब भी रोज़, पर फिर मैं भुला देता हूँ, दिल चाहता है तुमसे रूबरू होना, पर हसरतों को दिल में दबा देता हूँ, आज भी उलझता हूँ, उन रूठे ख्वाबों को सहेजने में, पर अब हकीकत की खुशी है इतनी, क…