sunnymca.wordpress.com
आफ्टर डेथ पालिसी
​जब जिंदगी लाख रूपये में किराए पे लगती हो, तब मौत को कर के करोड़ों का इसका भाव क्यों बढाया है? कभी गजेंद्र तो कभी गरेवाल अब तो आत्महत्या के बाद भी करोड़ों अनुदान के नाम पर मिलता है पर क्या हम पूछ सकत…