sunnymca.wordpress.com
सच को छुपा देता हूँ..
सैकड़ों दफा लिखकर मैं मिटा देता हूँ, सीने में है जो आग उसे मजबूरन बुझा देता हूँ, डरता हूँ जल जाएगा कुछ मेरा भी, बस इसी लोभ में सच को छुपा देता हूँ… -सन्नी कुमार…