sunnymca.wordpress.com
इश्क़ की शाख
ईश्क़ की शाख खतरे में है, की जमाने से कोई न हीर न कोई रांझा हुआ, सवार खूब हुए इस कश्ती में, पर कोई पार न हुआ।। -सन्नी कुमार ——–+——–+———+—&…