sunnymca.wordpress.com
तारीफें उनकी हो..
तारीफें उनकी हो जिन्होंने भाव बख्शे दिल को थे, तारीफें उनकी हो जो मिलकर ख्वाब बुनते अक्सर थे, हम थे क्या बस एक जिन्दा दिल, जो धड़कना जानता था, हम थे क्या बस जागे नयन, जो ख्वाबों को जीना जानता था. ता…