sunnymca.wordpress.com
खवाहिश नही मुझे मशहुर होने की
खवाहिश नही मुझे मशहुर होने की, आप मुझे पहचानते हो बस इतना ही काफी है। अच्छे ने अच्छा और बुरे ने बुरा जाना मुझे। क्योंकी जीसकी जीतनी जरुरत थी, उसने उतना ही पहचाना मुझे। ज़िन्दगी का फ़लसफ़ा भी कितना …