sunnymca.wordpress.com
ख़्वाबों की जरूरत और नहीं..
आँखों पे सितम अब और नहीं, इस दिल पे जुलम अब और नहीं, जो देखे थे ख्वाब, वो टूट गए, अब ख़्वाबों की जरूरत और नहीं।। मौसम था वो मेरा प्यार नहीं, जो बदला है मेरा यार नहीं, है बोल मेरे होठों पे उसके, पर द…