sunnymca.wordpress.com
एक नया इंक़लाब लायेंगे..
जो सुलग रहा है सीने में, उसी से मसाल जलाएंगे, है कसम इस मिट्टी की, एक नया इंक़लाब लायेंगे.. ना कोई बाँट सके आपस में हमको, हम ऐसी एकता लायेंगे.. आस्था को लेकर तकरार न हो, हम ऐसे विश्वास बढ़ाएंगे..…