sunnymca.wordpress.com
आज एक और दिसम्बर बीत गया..
दिन बदलते-बदलते, अब ये बरस भी बदल गया। धीरे धीरे ही सही, ये मंजर सारा बदल गया। द्रुत रफ़्तार से बढती जिंदगी, उस मोड़ से आगे निकल गयी, जहाँ दोस्तों का निर्मोह साथ था, वो मोड़ अब पीछे छुट गया। एक मयू…