sunnymca.wordpress.com
कुछ क़दमों तक साथ तो दो..
मत आना साथ मंजिल तक, पर कुछ क़दमों तक साथ तो दो.. मत सजाना मेरी दुनियां तुम, पर एक मीठा याद तो दो.. मत मिलना तुम हकीकत में, पर अपने हसीं ख्वाब तो दो.. मत दो मुझे कोई गम, पर जो भी है तुम्हारे वो बाँ…