sunnymca.wordpress.com
वो शुप्त नहीं है
वो शुप्त नहीं है, न ही रौशनी विहीन, पर दिखे उन आँखों को कैसे, जिनपे हो पट्टियाँ लगी? है वो ओज़ गुण संपन्न, सनातन धर्म से जुड़ा, उसमें शंखनाद की हिम्मत, विकास-पुरुष वो हुआ.. उसमें तेज है जान, बहुतों…