sunnymca.wordpress.com
ढेरों सपने लिए
ढेरों सपने लिए, जो कर्त्तव्य पथ पे चले| उसे रोके कौन तूफ़ान, जिसमें हौसले बड़े| इच्छा जिसकी भली, जरुरत जिसकी हो कम ही, वो झुके क्यों कहीं? जो हो, खुद में सभी| डरे नहीं जो मुश्किल से, जो डिगे नहीं स…