sudhisudhi.com
ए ज़िन्दगी जरा ये तो बता क्यो है तू मुझसे ख़फ़ा
ए ज़िन्दगी जरा ये तो बता क्यो है तू मुझसे ख़फ़ा वीरान चमन में कहाँ कहाँ ढूंढू मैं वफ़ा दफन हो जाऊं अपनी अधूरी ख्वाहिशों को लेकर या इस दार ए फानी से मैं हो जाऊं दफा ए ज़िन्दगी जरा ये तो बता क्यो है तू मु…