status4whatsapp.wordpress.com
न कसूर इन लहरों का था….
न कसूर इन लहरों का था, न कसूर उन तूफानों था, हम बैठ ही लिये थे उस कश्ती में ; नसीब में जिसके डूबना था…!!…