smsmine.wordpress.com
बहोत बिघडे है जमाने के रंग
बहोत बिघडे है जमाने के रंग . क्योंकी , मिल बैठे है तिन यार , , , , उन्हाळा पावसाळा अन हिवाळा……