sidtree.co
Havelis of Old Delhi : सपने देखने वाली पुरानी हवेलियां
“कभी आओ हवेली पे” कई फिल्मों में ये डायलॉग आपने सुना होगा, ये शब्द खलनायक के मुंह से निकलते थे, और मकसद भी पवित्र नहीं होता था। लेकिन इस कविता में आप, हवेलियों को बारिश में भीगते हुए, ए…