resonner.wordpress.com
~नमक स्वाद अनुसार~
कभी मम्मी कह दे कि आज ज़रा और पढ़ लो, Exam नज़दीक आ रहे हैं। तो लो ! पढाई वहीँ ठप हो जाती; बड़ा ठेस पहुँचता स्वाभिमान को। अगले दिन सुबह के तीन बजे, आँखें मलती हुई , गुनगुनाकर , नींद से लड़कर पढ़ती। …