rekhasahay.wordpress.com
सुनहरी धूप सुरमई शाम
मालूम नहीं कब ? मालूम नहीं कहाँ ? पर एक दिन सुनहरी धूप में या सुरमई शाम में मिलेंगे जरूर कभी ना कभी रूहानी मिलन में.…