rekhasahay.wordpress.com
ज़िन्दगी के रंग -108
ज़िंदगी के सफ़र में तब क्या किया जाय, जाने पहचाने जब अजनबी लगने लगते हैं. लम्हे …..बरसों …..अरसे…. बिताने के बाद भी क्यों कोई अनजाना लगता हैं? और किसी की कुछ हीं पल की बातें , अल्…