rekhasahay.wordpress.com
ज़िंदगी के रंग -137
लहरें टूट कर बिखरने पर दुगने जोश के साथ आतीं हैं………