rekhasahay.wordpress.com
ज़िंदगी के रंग – 85
रिश्ते ईमानदारी से निभाए जाय तो नियामत हैं , वरना बोझ बन जाते हैं. क्योंकि कोई भी रिश्ता एक तरफ़ा नहीं निभता हैं. वैसे ही जैसे ताली एक हाथ से नहीं बजती . …