rekhasahay.wordpress.com
अपने आप को
अपने आप को आईने में ढूँढा, परछाइयों में अक्सों…. चित्रों में खोजा, लोगों की भीड़ में , किसी की आँखों में खोजा, यादों में, बातों में खोजा, भूल गई अपने दिल में झाँकना.…