rekhasahay.wordpress.com
बारिश की बूंदें
सारे इत्रों की खुशबू,आज मन्द पड़ गयी… मिट्टी में बारिश की बूंदे,जो चन्द पड़ गयी… Unknown…