rekhasahay.wordpress.com
शब्द
ना जाने कितने हथियार बने कितने दवा बनी , पर ‘शब्द ‘ में है सारी शक्ति …… ख़ुशी …ग़म …. पीड़ा … या तस्सली देनी हो . मीठे – खट्टे शब्द या बोली हीं काफ़…