rekhasahay.wordpress.com
कच्ची मीठी धूप
सुबह की कच्ची मीठी धूप दिवस के बीतते प्रहर के साथ रवि के प्रखर प्रहार से बेनूर आकाश से तपती धरती पर आग का गोला बन गर्दो गुबार से हमला करता है। खुश्क हवाअों की चीखें…. कभी शोर करतीं, कभी चु…