rekhasahay.wordpress.com
​जला हुआ जंगल छुप कर रोता रहा…..
जला हुआ जंगल छुप कर रोता रहा तन्हाई में, लकड़ी उसी की थी उस दियासलाई में। Source: ​जला हुआ जंगल छुप कर रोता रहा…..…